Tag Archives: ‘Defining me’ ‘mindstyle’

Defining me…

आशिक दो प्रकार के होते हैंपहले , जो सोच समझ कर इश्क करता है,और दूसरा दिल फेंक मैं शायद दूसरा हूँ जुआरी  दो प्रकार के होते हैंपहला  जो समझ  कर दांव लगते  हैंऔर दुसरे जो बस दांव लगते हैं मैं … Continue reading

Posted in Uncategorized | Tagged | 2 Comments